Home > राजनीति > ' हिंदुओं के धैर्य की नहीं लेनी चाहिए परीक्षा ': गिरिराज

' हिंदुओं के धैर्य की नहीं लेनी चाहिए परीक्षा ': गिरिराज

नई दिल्लीः केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने कहा कि हिंदुओं (Hindu) के धैर्य की परीक्षा नहीं लेनी चाहिए और जिन्होंने अल्पसंख्यकों के खिलाफ असहिष्णुता का हवाला देकर राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) का विरोध किया उन्हें पाकिस्तान (Pakistan) जाना चाहिए और देखना चाहिए कि वहां पर कैसा लोकतंत्र है।

सिंह ने दावा कि राम मंदिर मुद्दा तब ही सुलझ गया होता अगर सरदार वल्लभभाई पटेल देश के पहले प्रधानमंत्री बने होते क्योंकि जवाहरलाल नेहरू ने वोट बैंक की राजनीति की खातिर इस मुद्दे को ‘जानबूझकर जिंदा रखा। हिंदूवादी राग अलापने के लिए पहचाने जाने वाले भाजपा नेता ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण भाजपा के लिए कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है लेकिन इसके बजाय सभी हिंदुओं के देश में रहने का एजेंडा है।

Leave a Reply