Home > राजनीति > रामविलास पासवान राम मंदिर मुद्दे पे कहा – ' राम मंदिर के मुद्दे पर अध्यादेश लाने का सवाल ही नहीं '

रामविलास पासवान राम मंदिर मुद्दे पे कहा – ' राम मंदिर के मुद्दे पर अध्यादेश लाने का सवाल ही नहीं '

नई दिल्लीः केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान ने स्पष्ट कर दिया है कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर अध्यादेश लाने का कोई सवाल ही नहीं उठता और सरकार इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करेगी। इस बारे में सवाल पूछने पर उन्होंने कहा, ‘मैं खुश हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में कहा कि सरकार राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की प्रतीक्षा करेगी और उसके अनुरुप कदम उठाएगी। यह मामला यहीं खत्म हो जाता है और ऐसे में संसद में कोई अध्यादेश या कानून लाने का सवाल ही नहीं उठता है।’

पासवान से न्यायाधीश की अनुपलब्धता की वजह से मामले में हो रही देरी पर टिप्पणी मांगी गई थी। उच्चतम न्यायालय ने राजनीतिक रूप से संवेदनशील विवाद मामले की 29 जनवरी की सुनवाई स्थगित कर दी क्योंकि पांच सदस्यीय संविधान पीठ के एक सदस्य उपलब्ध नहीं होंगे। पासवान ने कहा कि वैसे तो संघ और भाजपा नेता राममंदिर मुद्दा उठा रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री ने एक बार भी यह मुद्दा नहीं उठाया है, जो अच्छा है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न देने के विषय पर लोजपा नेता ने कहा, ‘प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न के लिए चुने जाने पर विवाद का कोई सवाल नहीं होना चाहिए। पुरस्कार सरकार घोषित करती है, न कि आरएसएस या भाजपा।’ उन्होंने दलील दी, ‘कुछ लोग कह रहे हैं कि उन्हें यह पुरस्कार दिया गया क्योंकि वह आरएसएस के कार्यक्रम में गए थे। क्या यह कोई मुद्दा है? अतीत में कई शीर्ष नेता भी आरएसएस के कार्यक्रम के गए थे।’ उन्होंने मोदी सरकार की सत्ता में वापसी का विश्वास जताया।

Leave a Reply