Home > देश > ' बच्चे दो ही पैदा करो मगर वीर पैदा करो ' : स्वामी रामदेव

' बच्चे दो ही पैदा करो मगर वीर पैदा करो ' : स्वामी रामदेव

नई दिल्लीः योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि दो बच्चे सभी को पैदा करने चाहिए। केवल दो बच्चे ही नहीं वीर पैदा करने चाहिए। ऐसे वीर जो देश के लिए हर तरह का बलिदान दें। स्वामी रामदेव रविवार को दिव्य प्रेम सेवा मिशन के सेक्टर 15 स्थित शिविर में ‘विश्वशांति का आधार हिन्दुत्व’ विषय पर आयोजित गोष्ठी में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे।

योगगुरु ने कहा कि सबसे ज्यादा जातिवाद अखाड़ों में है। उन्होंने व्यवस्था पर सवाल उठाया और कहा कि ब्राह्मणों को ही महामंडलेश्वर क्यों बनाया जाता है। दूसरी जाति के लोगों को क्यों नहीं। कहा कि जो दो बच्चे पैदा करे सरकार को उसका सम्मान करना चाहिए और जो न करे उसका तिरस्कार करना चाहिए। तिरस्कार और सत्कार भी दो प्रकार का होता है। जिसके दो बच्चे हों उसे मताधिकारी दिया जाए और जिसके ज्यादा बच्चे हों उससे मताधिकार छीन लिया जाए।

उन्होंने कहा कि मुझसे लोगों ने कहा कि स्त्रियों का वेद पढ़ाना गलत है। हमने 100 से अधिक स्त्रियों को वेद पढ़ाया और संन्यासी भी बनाया। व्यवस्था पर तंज कसते हुए योग गुरु ने कहा कि दूसरे की बेटी को कहते हो कि वेद न पढ़ाओ और जब अपनी बेटी कहेगी तो क्या करोगे। उसे वेद नहीं पढ़ाओगे।

Leave a Reply