Home > राजनीति > बजट 2019 : सौगातों की बारिश करके वोटों की बुआई

बजट 2019 : सौगातों की बारिश करके वोटों की बुआई

नई दिल्लीः अंतरिम बजट में वित्त मंत्री पीयूष गोयल से सौगातों की बारिश करके मुख्य रूप से किसानों, गरीबों, मज़दूरों और मध्यम वर्ग को लुभाने की कोशिश की। साथ ही प्रखर हिंदुत्व के एजेंडे के लिए प्रतिबद्धता भी जताई। उन्होंने आयकर में छूट की सीमा दोगुनी कर उस मध्यम वर्ग और नौकरीपेशा लोगों को ख़ुश कर दिया जो पिछले चार सालों के दौरान छूट की सीमा न बढ़ने से भाजपा से नाराज बैठा था। हालांकि यह सिर्फ एक अप्रैल से 30 जून तक (तीन महीनों) का अंतरिम बजट है, वित्तमंत्री ने इनकम टैक्स से छूट की सीमा ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख करने कर दी।

बहुप्रतीक्षित यूनिवर्सल बेसिक इनकम (यूबीआई) तो लोगो नहीं हुई लेकिन तो 15000 रुपये मासिक की आय वाले 60 वर्ष से अधिक आयु के दस करोड़ श्रमिकों के लिए तीन हज़ार रुपये की मासिक पेंशन की घोषणा की। निर्बल वर्गों के बुजुर्ग और निर्बलों लिए यह धनराशि किसी बड़े वरदान से कम नहीं है। भाजपा को आशा है कि ये लोग भी चुनाव में आशीर्वाद भी उसी को देंगे।

Leave a Reply